khabre

बुधवार, 5 मई 2010

अगर मै बहुत अमीर होता तो.....देखो ना आप भी .... कोई होता मेरे जैसा.....



अगर मै  अमीर  होता तो क्या क्या करता .
आप भी देखना चाहोगे .
तो फिर देखो ना 


मै  चाँद खरीद लेता ................

















मेरा घर जहाँ में छुट्टियाँ गुजारता ....................









मेरे बेडरूम से सारी दुनिया नजर आती ...........






मेरे पालतू के भी सोने के दांत होते ..................




मेरा जाम का गिलास शुद्ध हीरे का बना होता ...........




जब मेरा दिल करता तो में अपने शिप पे गोल्फ खेलता ...............




मेरी सुरक्षा भी अत्याधुनिक होती.........................




और तो और मेरी फ्लश के लिए पानी भी हिमालय की वादियों से आता ............

अगर टोइलेट  पेपर की जरुरत होती तो.................








मेरा स्नानागार परफ्यूम्स  से भरा होता..................




मेरी गाडी को एक profesional धोता जो गोल्डन प्लेटेड होती ................


दुनिया के सबसे महंगे हीरो से बना होता मेरा लैपटॉप .........................


लेकिन  फायदा क्या होता ना सुख होता, ना प्यार ना कुछ होता 
और तो और आप जैसे ब्लॉग के दोस्त भी ना होते .
चलो जाने देते हैं ऐसे सपने को जिसमे कोई अपना ना होता .
और आ जाते हैं फिर से जमीन पर.
अब आप लोगो को भी ठीक लग रहा होगा .
अब जाने भी दो यारो 

12 टिप्‍पणियां:

  1. मस्त है भाई.....

    मै सोच रहा हूँ के गाडी कौन धोता?बिल गेट्स या ओबामा......

    कुंवर जी,

    उत्तर देंहटाएं
  2. जो तुझे अच्छा लगे बोल,
    रख लेते हैं ना यार
    तू टेंशन मत ले
    बस बोल दे एक बार

    उत्तर देंहटाएं
  3. अरे राणा साहब, अगर सच मुच में भी हो जाते तो हम कम से कम यह तो कह सकते थे कि वो डालर को टोइलेट पेपर की तरह इस्तेमाल करने वाला भी अपना ही भाई-बांध है :)

    उत्तर देंहटाएं
  4. अरे गोदियाल साहब क्या बात कर रहे हो जी.
    मैंने तो नीचे ही लिख दिया था की फिर आप लोगो का प्यार थोडा ही मिल पाता.

    उत्तर देंहटाएं
  5. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. aa gaye na fir se apni wali par


    acha he

    aasha he ye sab aap apni mahanat se kharido ge

    उत्तर देंहटाएं
  7. @amit bhai sahaab-asal me angur hai hi nahi....

    kunwar ji,

    उत्तर देंहटाएं
  8. @ अमित जी बिलकुल ठीक कहा जी लेकिन एक बात बताओ की क्या खट्टे होने के कारण अंगूरों को देखा भी नही जा सकता हैं ?

    @ कुंवर जी ठीक ही हैं आप का कहना भी .
    अंगूर तो लोगो की पहुँच से भी दूर हो गए हैं जब से ये महंगे हो गये हैं चाहे फिर खट्टे हो या मीठे .

    उत्तर देंहटाएं
  9. @ शेखर जी आपका मशविरा याद रखूँगा जिंदगी भर के लिए.
    आभार

    उत्तर देंहटाएं
  10. बढ़िया प्रस्तुति पर हार्दिक बधाई.
    ढेर सारी शुभकामनायें.

    संजय कुमार
    Fatehabad हरियाणा
    http://sanjaybhaskar.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं