khabre

रविवार, 9 मई 2010

एक विवाह - करोडो बाराती ..आप भी सादर आमंत्रित हैं.


(आरोग्य अमृत परिवार के नशा मुक्ति अभियान के तहत बीडी कुमारी की शादी के कार्ड को स्वयं भी पढ़े और   दूसरों को भी पढाये)

                                         अमंगलम गुटखा खादयम,    अमंगलम धुम्रपानम,
                                         अमंगलम  मधपानम,         अमंगलम सर्व्वयसनम |

                                          कराग्रे वस्ते बीडी,      करमध्ये चुरुनम
                                        करमूले सिथितो गुटखा,   प्रभात कर दर्शनम || 


                                           दुर्भाग्यवती बीड़ीकुमारी  उर्फ सिगरेट देवी

 (कुपुत्री श्री तम्बाकुलाल जी एवं श्रीमती खैनी देवी, निवाश  स्थान - ४२०, यमलोक हाउस , दुःख नगर  )


                                                                 



                                                                       संग 




                                        मृतात्मा - कैंसर उर्फ लाइलाज कुमार 

                             


                           (कुपुत्र श्री गुट्खालाल जी एवं श्रीमती भांग देवी निवास स्थान - व्यसंपुर )

का अशुभ विवाह तय हुआ हैं . अतः इस भयंकर प्रसंग पर चाचा गांजा सिंह, चाची अफीम देवी, दादा हुक्का राम, दादी शराब देवी, मामा चरस, मामी काफी देवी, नाना हेरोइन, नानी चाय, चूना ताऊ,फूफा जर्दाराम जैसे बुजुर्गो की उपस्थिति में नव सम्पति को अभिशाप प्रदान करने हेतु सादर आमंत्रित हैं.


नोट:- 1.बारात अम्बुलेंस से कैंसर अस्पताल होते हुए काल- घडी में शमशान घाट पहुचेगी .

     2.बारातियों का स्वागत धूमधाम से शमशान घाट पर होगा . यमराज महोदय का आशीर्वाद   मुफ्त में मिलेगा.













                   दर्शनाभिलाषी:

 बलगम कुमारी ,कब्जी देवी  , सेठ दमादास, श्रीमती टीबी  श्रीमती खान्शी बाई एवं समस्त 
 नशीली गोलियाँ, इंजेक्सन एवं  पिच्च- थू  परिवार 


बाल - आग्रह:- हमारी बुआ की छादी में जलूल- जलूल आना जी -'सुपारी ' 

18 टिप्‍पणियां:

  1. कोई सगन-वगन तो नहीं लिखवाना पडेगा न ?

    उत्तर देंहटाएं
  2. राणा साहब क्षमा करना!शायद हमारी किस्मत में ये बरात नहीं है!

    कुंवर जी,

    उत्तर देंहटाएं
  3. @गोदियाल साहब एक- दो कस बीड़ी के मार लेना सगन पूरा.
    @कुंवर जी ना किस्मत में हो तो ही अच्छा हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  4. ऐसे विवाह दुर्योगों से ही होते हैं राणा जी।
    अपनी खुशकिस्मती कि अपन शामिल नहीं हो रहे।

    ..पर पिच्च-थू परिवार से अपना भी जुड़ाव है भाई।

    उत्तर देंहटाएं
  5. @ दो कस बीड़ी के मार लेना सगन पूरा.
    राणाजी कही सगुन पूरे करने के चक्कर में हमारा पूरा लगन ही मत लिखा दीजियेगा :>)

    उत्तर देंहटाएं
  6. कमाल का न्यौता है भाई। जिन बारातियों-घरातियों का आपने जिक्र किया है कभी उनसे अपना वास्ता रोज पड़ता था लेकिन पिछले तीन सालों से अपन ने ऐसी बारातों में जाना छोड़ रखा है। फिर भी आपका निमंत्रण पत्र पढ़कर मजा आ गया । आपने हंसाया तो। बधाई।

    उत्तर देंहटाएं
  7. ज़बरदस्त है...शादी है... बाप....
    लेकिन हम हुक्का देवी नहीं आ सकेंगे...हमरे चिलम बाबा आज कल गुडगुडपुर में हवापानी बदलने गए हैं...
    हाँ अगर धतुरा प्रसाद साथ देवें तो RDX की फ्लाईट ले सकते हैं ....
    हमरी प्रार्थना है कि कु-वर और कु-वधु हशीश नहावे और अफीम फूले ...
    हाँ नहीं तो...!!

    उत्तर देंहटाएं
  8. हाहाहाह क्या बारात होगी भईया लाजवाब ।

    उत्तर देंहटाएं
  9. @नरेश सोनी जी चलो आपने ये हिम्मत तो की की आप ने मन की पिच्च थू परिवार से आपका भी सम्बन्ध हैं चलो हम तो ये ही प्रार्थना करेंगे उपरवाले से की इस परिवार से भी आपके सम्बन्ध टूट जाए.



    @राजकुमार सोनी जी पहले तो आपका स्वागत, बहुत खुशी की बात हैं की अब आप इस परिवार का साथ नही दे रहे हो और आपका ऐसी बरात में जाने का कोई प्रोग्राम नही हैं . और आशा करूँगा की लोग आपके इस फैसले से सीख ले और इन सब चीजों का बहिस्कार करने की उनमे भी ताकत ऊपर वाला दे.

    उत्तर देंहटाएं
  10. राणाजी ये निमंत्रण तो वास्तम में अनोखा है।
    पहला कमेन्ट तो पढ़ते ही लिखा पर तसल्ली नहीं हुयी। जब तक हिंदी में ना लिखा लूँ तस्सली होती ही नहीं। अतः दुबारा कमेन्ट लिख रहा हूँ। ये रचना मेरे लिए अब तक पढ़ी रचनाओं में सर्वोत्तम है। धन्यवाद।

    उत्तर देंहटाएं
  11. @पूजा जी आपका स्वागत हैं और बहुत बढ़िया बात हैं जो आप इस तरह की बारात में नही आना चाहते हो.


    @मिथिलेश भाई
    @ विचार शून्य जी आप दोनों का भी अपना समय निकलने के लिए धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  12. @ फिरदौस जी धन्यवाद

    @ अदा जी आप की अदा भी सबसे जुदा हैं, वाह वाह मजा आ गया आपकी कमेन्ट पढकर . आपने तो मेरी इस पोस्ट पे सोने पे सुहागा वाली बात कर दी .
    हा कोई बात नही अगर हुक्का बाबा घर पे नही हैं कोई बात नही आप का आशीर्वाद हम नव कु-दम्पति तक जरुर पहुंचा देंगे, उसकी आप चिंता मत करना.

    उत्तर देंहटाएं
  13. आपका आभार विचार शून्य जी

    उत्तर देंहटाएं
  14. sanjeev ji aapki is post ka zikr hai yahan..
    http://swapnamanjusha.blogspot.com/2010/05/3.html

    उत्तर देंहटाएं