khabre

सोमवार, 17 मई 2010

ज्यादा काम भी खतरनाक होता हैं ...यकीन नहीं आता तो खुद मंजर देख लो ....ये पोस्ट समर्पित हैं उन तमाम दोस्तों के नाम जो ऐसी जगह काम करते हैं जहा आराम नाम की कोई चीज़ नही .

ये पोस्ट समर्पित हैं उन तमाम दोस्तों के नाम जो ऐसी जगह काम करते हैं जहा आराम नाम की कोई चीज़ नही .



ज्यादा मेहनत......................  ज्यादा कमाई
ज्यादा परिश्रम ........................ ज्यादा सफलता 
ज्यादा काम ........................ बड़ा नाम
ज्यादा कोशिश ...................... बड़ी उपलब्धि 



ये सब कहा जाता हैं न.
हमारे बड़े भी यही शिक्षा देते आये हैं ना अभी तक.
अगर मैं कहू की ज्यादा हमेशा बुरा होता हैं चाहे काम के सिलसिले में या फिर किसी भी बात में .

गलत लगा ?

गुस्सा आया?

कोई बात नही.

तो खुद ही देख लो.
.
.
.
.
.
.
.
.
.
.




   


समझे या अभी भी समझ में नही आया.
आगे आपकी मर्जी जो करना हैं करो 


.

3 टिप्‍पणियां:

  1. ये ज्यादा काम का नतीजा नहीं है बन्धु....

    इन्होने तो आपकी बुलाई बरात का न्योता स्वीकार कर लिया शायद....

    आप संकेत समझने में नाकाम हुए......

    कुंवर जी,

    उत्तर देंहटाएं